Tuesday, November 6, 2007

रिश्ते......

बाँध के रखे जब हस्ते,
सीने में किसीके छुपना चाहे रोते….
ज़िंदगी ये बीत जाए सोचते,
की निभाते कैसे सच्चे रिश्ते ?

No comments: